मुख पृष्ठ » समाज रक्षा मुद्दे » ट्रांसजेंडर कल्याण

ट्रांसजेंडर कल्याण Last Updated Date : 03 Feb 2015

भारत में ट्रांसजेंडर लोगों की समस्या की उत्पत्ति समाज में उनके प्रति व्याप्त कलंक और भेदभाव की भावना में निहित है जिसके परिणामस्वरूप उनका सामाजिक आर्थिक व राजनैतिक बहिष्कार होता है। इस समस्या का समाधान करने के लिए उनको मुख्यधारा में लाने के लिए संगठित प्रयास करने तथा जीवन के सभी पहलुओं में समावेशी दृष्टिकोण अपनाए जाने की आवश्यकता है। ट्रांसजेंडर समुदाय एक वंचित समूह है और विकास प्रयासों में उनको शामिल किए बिना समावेशी विकास के उद्देश्य को पूर्णत: प्राप्त नहीं किया जा सकता। एनआईएसडी के समाज रक्षा प्रभाग ने ट्रांसजेंडर मुद्दे पर ट्रांसजेंडर और कुछ विशेषज्ञ समूहों के साथ राष्ट्रीय स्तर की दो परामर्श बैठकों का आयोजन करने में सहायता की थी।